Latest Post

 




उल्हासनगर : 

आज डीसीपी कार्यालय उल्हासनगर ज़ोन 4 में ठाणे पुलिस आयुक्तालय ज़ोन 4 उपायुक्त डॉ सुधाकर पठारे ने आज अपने कार्यालय में शांतता समिति की बैठक का आयोजन किया जिसमें नागरिक सुविधा के लिये सदैव तत्पर पुलिस विभाग व सरकार की तरफ़ से समय समय पर दिशानिर्देश जारी किए जाते हैं व आम जनता तक सरकारी सुविधाओं की जानकारी अग़र कोई भी संकट समय आये या अनहोनी घटे तो कैसे संपर्क करें व विशेष रूप से आनेवाली ईद के मौके पर कैसे साम्प्रदायिक सौहार्द बना रहे इस पर चर्चा हुईं सभी को सरकारी दिशानिर्देशों की जानकारी दी व शांति बनी रहे ऐसी कामना की व सोशल मीडिया पर क़ोई ग़लत जानकारी आये तो स्थानीय पुलिस को संपर्क करें या जानकारी दे।

इस शांतता समिति की बैठक में उल्हासनगर व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष जगदीश तेजवानी, विजय भाटिया ,महेश पुरस्वानी ,परमानंद गेरेजा , हरेश भाटिया , पप्पू पल्लवी , सन्नी जाधवानी सहित कई पुलिस अधिकारी व उल्हासनगर अम्बरनाथ बदलापुर के कई सामाजिक संस्थाओ के पदाधिकारी व सदस्यों के साथ विभिन्न पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे ।





 



उल्हासनगर : 

लोगों को साफ और स्वच्छ पानी देने के लिए उल्हासनगर महानगरपालिका प्रशासन द्वारा अरबों रुपया खर्च करने के बावजूद लोगों को ना तो स्वच्छ पानी मिल पा रहा है और न ही समय पर नलों में पानी आ रहा है। हर साल बरसात आते ही दूषित जलापूर्ति से लोगों को पानी पीना भी दुश्वार हो जाता है।  पानी की पाइप लाइन बदलने के बावजूद हर रोज हजारों लीटर पानी बर्बाद हो रहा है साथ ही लोगों के घरों तक दूषित पानी आ रहा है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि शहर का विकास करवाने का दावा करने वाले लोग इस मूलभूत सुविधा को लेकर कितने गंभीर हैं।  यहां सवाल ये उठता है कि जब लोगों को साफ और स्वच्छ पानी देने में या दिलवाने में शासन-प्रशासन नाकाम साबित हो रहा है तो फिर विकास कैसे होगा।  बस केवल करोड़ों रुपया इन सब मुद्दों में खर्च कर अपना पल्ला झाड़ना यही शासन-प्रशासन का काम रह गया है।  यह देखने वाला या बोलने वाला कोई नजर नहीं आ रहा है कि प्रशासन से ये सवाल पूछे कि जब अरबों रुपया नियमित रूप से स्वच्छ पानी देने के नाम पर खर्च किये गए हैं या अभी भी विभिन्न वार्डों में हो रहे हैं तो ऐसी समस्या क्यों है ?








 



उल्हासनगर: 

उल्हासनगर शहर के विकास करवाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे एनसीपी के शहर अध्यक्ष भरत गंगोत्री अब विधानसभा चुनाव लड़ने के मूड में नजर आ रहे हैं।  हालांकि उनका कहना है कि अगर पार्टी ने उन्हें उल्हासनगर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए कहा तो वे जरूर चुनाव लड़ेंगे।  आपको बता दें कि विगत कई वर्षों से पूर्व नगरसेवक भरत गंगोत्री अपने प्रभाग समेत समूचे शहर में विकास कार्य करवाने में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। पिछले साल उन्होंने उपमुख्यमंत्री अजित पवार से अपने प्रभाग और उसके आस-पास के क्षेत्रों के विकास के लिए 25 करोड़ की निधि लाकर विकास काम करवाया है। जो अबतक किसी भी नगरसेवकों द्वारा इतनी बड़ी राशि नहीं लाई गई है।  भरत गंगोत्री एक सुलझा हुआ और मृदुभाषी नेता के रूप में विख्यात हैं। साथ ही लोगों के सुख दुःख में हमेशा शामिल होते आए हैं।  शहर की डर्टी पॉलटिक्स से दूर केवल अपने प्रभाग और अपने शहर के विकास पर ही उन्होंने अपना ध्यान केंद्रित किया हुआ है। बहरहाल शहर को विकसित करवाने के उद्देश्य से अब भरत गंगोत्री ने भी विधानसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है मगर उनका ये स्पष्ट कहना है कि पक्ष प्रमुख और उपमुख्यमंत्री अजित पवार उन्हें अगर आदेश देंगे तभी वे विधानसभा चुनाव में खड़ा होंगे।







 


उल्हासनगर: 

 मंगलवार को एक ट्रक चालक ने सड़क पर जा रहे एक बुजुर्ग व्यक्ति के जान ले ली। इस घटना से स्थानीय परिसर में हड़कंप मच गया।  यह घटना सीसीटीवी में भी कैद हुआ है। जिसमें दिख रहा है कि ठीक से पैदल चलने से लाचार बुजर्ग व्यक्ति बड़ी मुश्किल से सड़क पार करने की कोशिश कर रहे हैं मगर नियति को कुछ और ही मंजूर था। यह घटना उल्हासनगर के कैंप एक, गोल मैदान परिसर में सच्चु केबल के दफ्तर के पास की है जब एक बुजुर्ग व्यक्ति पैदल सड़क पर जा रहे थे तभी एक ट्रक चालक ने उन्हें कुचल दिया जिससे उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। स्थानीय लोगों ने घटना की जानकारी उल्हासनगर पुलिस को दी। पुलिस वहां पहुंची और बुजुर्ग व्यक्ति को सेंट्रल हॉस्पिटल लेकर गई। डॉक्टरों ने वहां बुजर्ग व्यक्ति को मृत घोषित कर दिया। इस बीच पुलिस ने ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया और आगे की जाँच कर रही है।

 







उल्हासनगर : 

(ग्रैजुएट कॉन्स्टिट्यूसेंसी कोंकण ) कोंकण स्नातक निर्वाचन सीट  के भाजपा उम्मीदवार श्री निरंजन डावखरे के प्रचार प्रसार के लिये उल्हासनगर भाजपा ज़िला व्यापारी सेल के ज़िलाध्यक्ष श्री जगदीश तेजवानी के कार्यालय में जोरशोर से श्री निरंजन डावखरे को जिताने के लिये काम शुरू हैं। जहाँ ज़िलाध्यक्ष श्री जगदीश तेजवानी , दिनेश पंजाबी , दिनेश मीरचंदानी, ज्योति गोखलानी राजन चंद्रवंशी , सिंधु राजपाल व  कार्यकर्ताओं की लगातार मीटिंग बुलाई जा रही हैं व सभी को हर वोटर तक पहुंचने का निर्देश दिया गया हैं हमारा लक्ष्य भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में एक एक वोट करवाने का हैं। चुनाव 26 जून को हैं औऱ उल्हासनगर के कुल 3477 मतदाता हैं।








 








कल्याण:

कल्याण की महात्मा फुले चौक पुलिस ने मां के पास सो रहे 6 माह के बच्चे को चुराने वाले दो बच्चा चोर को गिरफ्तार किया है। ये बच्चा चोर उल्हासनगर में रहते हैं।  जानकारी के मुताबिक मुरबाड रोड परिसर में शनिवार रात 20 साल की आयशा समीर शेख नाम की महिला अपने छह माह के बेटे अरबाज के साथ फुटपाथ पर सो रही थी।  सुबह जब वो उठी तो अपने बेटे को नहीं देखी। उसने आस-पास के इलाकों में उसकी तलाश की मगर वो कहीं नहीं मिला। आख़िरकार आयशा ने अपने बेटे की गुमशुदगी की शिकायत महात्मा फुले चौक पुलिस थाना में दर्ज करवाई। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शैलेश सालवी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए बच्चे की तलाश के लिए पुलिस की तीन टीमों को भेजा।  सीसीटीवी फुटेज और तकनीकी जानकारी के आधार पर पुलिस ने दिनेश भैयालाल सरोज (35) तथा अंकित कुमार राजेंद्र कुमार प्रजापति (25) को उल्हासनगर से गिरफ्तार किया। पुलिस ने उसके पास से अरबाज को सुरक्षित बरामद कर आयशा को सुपुर्द कर दिया। कोर्ट ने दोनों आरोपियों को तीन दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है। दोनों आरोपी रिक्शा चालक हैं।

अब पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि बच्चा चुराने के पीछे उनका असली मकसद क्या था ?









 







उल्हासनगर:


उल्हासनगर के कुछ व्यापारियों द्वारा राजस्थान के एक कपड़ा मिल से मुंबई के एजेंट के जरिये करोड़ों का कपड़ा लेकर उनके साथ धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है।  खबर है कि राजस्थान पुलिस इस मामले की तहकीकात में उल्हासनगर आई हुई है। सूत्रों के मुताबिक पकड़े जाने के डर से ऐसे व्यापारी फिलहाल भूमिगत हो गए हैं. हालांकि एक व्यापारी को पुलिस द्वारा हिरासत में लेने की बात कही जा रही है लेकिन इसकी पुष्टि नहीं की गई है। बताया जा रहा है कि यह धोखाधड़ी का मामला राजस्थान के भीलवाड़ा के प्रतापनगर में कंचन इंडिया लिमिटेड नाम का कपड़ा मिल है जिसके जनरल मैनेजर दिनेन्द्र कुमार दाधीच ने प्रतापनगर पुलिस थाना में 3 करोड़ 80 लाख रूपये की ठगी का मामला दर्ज करवाया है। पुलिस थाना में सीआर नंबर- 322/2024, आईपीसी की धारा 407/420/120 (बी) के तहत मामला दर्ज है। ये मामला उमेश कुमार प्रसाद तथा राज पटेल, श्री गणेश टेक्सटाईल्स अँधेरी, एजेंट अशोक शाह, ठाणे एवं एजेंट सुशिल गुप्ता, प्रताप नगर अजमेर रोड के नाम से दर्ज है। इनपर आरोप है कि इन सभी ने मिलकर षड्यंत्र रचकर ऐसे लोगों को कपड़ा बेचा है जो कपड़ा व्यवसाई नहीं है।  इस मामले में उल्हासनगर के कैंप पांच के भी कुछ कपड़ा व्यापारी शामिल हैं. इसलिए राजस्थान पुलिस शुक्रवार से उल्हासनगर में डेरा डाले हुए है और कैंप पांच में स्थानीय पुलिस की मदद से कुछ कपड़ा दुकानों में छापामारी की गई है. सूत्रों के मुताबिक एक व्यापारी को हिरासत में भी लिया गया है।  इस धोखाधड़ी में कैंप पांच के कुछ रसूखदार व्यापारियों के शामिल होने की बात कही जा रही है। बहरहाल यह चिंता का विषय है कि कपड़ा के कुछ व्यापारियों द्वारा करोड़ो की ठगी करने से उल्हासनगर शहर का नाम खराब हो रहा है।







MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget